Thursday, September 11, 2008

मेरे साथ चलो

कुछ पल के लिए ही सही,मेरे साथ तुम चल के तो देखो
किसी की खातिर तुम कभी,अपनी राह बदल के तो देखो
हा!है मजा अपना तन्हाई में भी,मगर हर पल तो नही
मिटाके कभी अपनी हस्ती,किसी और में ढल के तो देखो

2 comments:

Kailas said...

dil ki hasti bhi hasti hai
lutnewale ko tarasti hai

kailas

Kailas said...

dil ki hasti bhi kya hasti hai
lootnewale ko tarasti hai